लखनऊ पूर्वी क्षेत्र में धारा-144 लागू

By - Oct 09, 2018 11:57 AM
 लखनऊ पूर्वी क्षेत्र में धारा-144 लागू

लखनऊ। अपर जिला मजिस्ट्रेट नगर पूर्वी वैभव मिश्रा ने बताया कि द0प्र0सं0 की धारा 144 के अन्तर्गत प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए जन-जीवन एवं निजी सम्पत्ति की हानि, दंगा, बलवा के निवारण के उद्देश्य से प्रतिबंधात्मक आदेश पारित किये हैं। उन्होंने बताया कि विभिन्न माध्यमों से यह प्रतीत कराया गया कि विभिन्न राजनीतिक दलों एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा राजधानी क्षेत्र में प्रदर्शन करने की सम्भावना के दृष्टिगत शान्ति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

इसके अतिरिक्त यूपीएससी,एसएससी तथा अन्य विभिन्न विभागों द्वारा आयोजित परीक्षाएं, महाराजा अग्रसेन जयन्ती, महानवमी, दशहरा, दीपावली, महर्षि बाल्मीकि जयन्ती, ईद-ए-मिलाद,बारावफात, सरदार बल्लभ भाई पटेल जयन्ती, गुरू नानक  जयन्ती, कार्तिक पूर्णिमा एवं शहीद दिवस आदि पर्वों पर शान्ति व्यवस्था एवं लोक सुरक्षा को सुदृढ करने के उद्देश्य से लखनऊ नगर पूर्वी क्षेत्र में धारा 144 लगायी गयी है। वैभव मिश्रा ने बताया कि उक्त कारणों से लोक प्रशान्ति एवं जनजीवन सामान्य बनाये रखने के घोषित आयोजनों के कारण उत्पन्न होने वाले तनाव को कम करने, जन एवं जन सम्पत्ति की तथा लोक प्रशान्ति भंग होने से रोकने के उद्देश्य से एवं त्वरित निदान हेतु निषेधाज्ञा लागू किया जाना अपरिहार्य हो गया है और इस निषेधाज्ञा के लागू होने के बाद जनजीवन बाधित होने एवं लोक प्रशान्ति विक्षुब्ध होने की सम्भावनाओं का निवारण हो जायेगा।

उन्होने बताया कि दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा-144 के अन्तर्गत प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए जन जीवन एवं निजी,लोक सम्पत्ति की हानि एवं दंगा, बलवा के निवारण के उद्देश्य से ऐसा करना आवश्यक समझते हुए प्रतिबन्धात्मक आदेश पारित किये है। उन्होने बताया कि यह आदेश तत्काल प्रभावी होगा यदि बीच में वापस न किया गया तो 30 नवम्बर 2018 तक लागू रहेगी। उन्होने बताया कि इस आदेश अथवा आदेश के किसी अंश का उल्लंघन करना भारतीय दण्ड विधान की धारा-188 के अन्तर्गत दण्डनीय अपराध होगा।