चीन ने भारत की सरसों खली से हटाया बैन

By - Oct 23, 2018 07:26 AM
चीन ने भारत की सरसों खली से हटाया बैन

नई दिल्लीः चीन ने भारत से सरसों खली आयात पर लगे वर्षों पुराने प्रतिबंध को हटा दिया है। सीमा शुल्क प्रशासन ने सोमवार को बताया कि सरकार पशु आहार में इस्तेमाल होने वाले प्रोटीन के स्रोतों का दायरा बढ़ाना चाहती है। चीन के जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ कस्टम्स ने अपनी वेबसाइट पर कहा है कि यदि जरूरी जांच प्रक्रिया और शर्तों को पूरा किया जाता है तो भारत से सरसों खली की खेपों की आपूर्ति सोमवार से बहाल हो सकती है। चीन दुनियाभर में बेचे जाने वाले सोयाबीन का 60 फीसदी हिस्सा खरीदता है और इसे अपने सूअरों को चारे के तौर पर खिलाने के लिए सोया खली में तब्दील करता है।

सोयाबीन मूल्य के लिहाज से चीन को निर्यात किया जाने वाला प्रमुख अमेरिकी कृषि निर्यात है। गुणवत्ता से संबंधित चिंताओं को लेकर 2011 में प्रतिबंध लगने से पहले तक चीन भारतीय सरसों खली का प्रमुख खरीदार था। चूंकि चीन-अमेरिका के बीच द्विपक्षीय व्यापार को लेकर तनाव गहराने की वजह से भारत ने 2011 में 16.1 करोड़ डॉलर का व्यापार पुन: शुरू करने की तैयारी शुरू कर दी। चीनी संस्था ने अपनी वेबसाइट में कहा है कि चीन के लिए भारतीय सरसों खली का निर्यात भारतीय निर्यात निगरानी परिषद द्वारा स्वीकृत प्रोसेसिंग संयंत्रों से किया जाना चाहिए और यह जनरल एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ कस्टम्स के साथ पंजीकृत होना चाहिए।