CBI vs CBI : SC में आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई

By - Oct 26, 2018 05:19 AM
CBI vs CBI : SC में आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई

सीबीआई में चल रहे घूसकांड को लेकर सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई शुरू होगी। चीफ जस्टिस रंजन गोगाई की बेंच मामले की सुनवाई करेगी। आलोक वर्मा ने यह याचिका उन्हें जबरन छुट्टी पर भेजे जाने के सरकार के फैसले खिलाफ बुधवार को दायर की है।
* मुकुल रोहतगी ने कहा कि ये केस भी अन्य केस की तरह ही है। वह इसपर कोर्ट में लड़ाई लड़ेंगे।
* सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होने से पहले राकेश अस्थाना अपने सीनियर वकील मुकुल रोहतगी से मिलने पहुंचे।
क्या है सीबीआई घूस मामला
छुट्टी पर भेजे गए सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के आवास के बाहर से सुबह-सुबह उनके सुरक्षाकर्मियों ने 4 लोगों को पकड़ा था। सुरक्षाकर्मियों का कहना था कि इनकी गतिविधियां संदिग्ध लग रही थीं। ये लोग कुछ बताने को तैयार नहीं थे, बाद में इन्हें पुलिस को सौंप दिया गया था।
गौरतलब है कि मंगलवार की देर रात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की नियुक्ति समिति से जारी आदेश के तहत, सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया गया और एम नागेश्वर राव को जांच एजेंसी का तत्काल प्रभाव से प्रभारी निदेशक नियुक्त कर दिया गया। इसके अलावा सरकार ने सीबीआई के कई अधिकारियों का भी तबादला कर दिया। एजेंसी में वर्मा और अस्थाना के बीच टकराव चल रहा था।
पद पर बने रहेंगे वर्मा और अस्थाना
इधर, सीबीआई ने कहा कि आलोक वर्मा जांच एजेंसी के निदेशक और राकेश अस्थाना विशेष निदेशक के पद पर बने रहेंगे। सीबीआई प्रवक्ता ने कहा है कि वर्मा और अस्थाना के सारे अधिकार वापस लेने की केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) की सिफारिश के परिप्रेक्ष्य में संयुक्त निदेशक एम नागेश्वर राव को अंतरिम व्यवस्था के तहत निदेशक के कर्तव्यों और कामकाज को संभालने की जिम्मेदारी दी गई है।
डोभाल बोले- हम कानून के रखवाले, नेताओं की कठपुतली नहीं
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने सीबीआई में मचे भूचाल और अन्य मामलों में गुरुवार को सरदार पटेल मेमोरियल में बोलते हुए सरकार का पक्ष रखा। उन्होंने कहा, हम कानून के हैं रखवाले, नेताओं की कठपुतली नहीं। हम पर जनता के प्रतिनिधियों का नहीं, उनके बनाए कानूनों का शासन है, इसलिए कानून का राज बेहद अहम है। डोभाल ने कहा कि भारत को इस समय ऐसी निर्णायक सरकार की जरूरत है, जो देशहित में कड़े फैसले ले सके।
राहुल बोले, पीएम मोदी का हाथ
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि सीबीआई चीफ आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ है। राहुल ने आरोप लगाया, सीबीआई चीफ पर इसलिए हुई कार्रवाई क्योंकि वे राफेल से जुड़े मामले की जांच शुरू करने वाले थे। उनके कमरे को सील किया गया और जो दस्तावेज उनके पास थे, वे ले लिए गए। राफेल से जुड़े सबूतों को मिटाने के लिए यह काम रात 2 बजे किया गया। देश नरेंद्र मोदी को छोड़ेगा नहीं, विपक्ष भी उन्हें नहीं छोड़ेगा।
कांग्रेस आज देगी धरना
सीबीआई के निदेशक को छुट्टी पर भेजने के केंद्र सरकार के आदेश के खिलाफ कांग्रेस शुक्रवार को दिल्ली में सीबीआई मुख्यालय तथा राज्यों की राजधानियों में सीबीआई के कार्यालयों के सामने धरना- प्रदर्शन करेगी। प्रदर्शन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भी शामिल होने की संभावना है।