उमा भारती का बड़ा बयान, बोली- दिग्विजय सिंह को हराना कठिन काम नहीं

By - Apr 15, 2019 08:15 AM
उमा भारती का बड़ा बयान, बोली-  दिग्विजय सिंह को हराना कठिन काम नहीं

मध्य प्रदेश: भोपाल से दिग्विजय सिंह के सामने बीजेपी को भले ही अभी तक कोई प्रत्याशी ना मिला हो लेकिन उसके करीब आधा दर्जन नेताओं के नाम की चर्चा ज़रूर हो चुकी है. इसी चर्चा के बीच मे मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती का दिग्विजय सिंह को लेकर बड़ा बयान सामने आया है. उमा भारती से जब पत्रकारों ने भोपाल से दिग्विजय सिंह के सामने उनके चुनाव लड़ने से जुड़ा सवाल पूछा तो उमा ने उसका जवाब ट्विटर के ज़रिए दिया. उमा भारती ने रविवार रात को एक के बाद एक आठ ट्वीट के ज़रिए पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए दिग्विजय सिंह पर जमकर हल्ला बोला.

उमा भारती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि 'आज मीडिया के बंधुओं ने फिर से मेरे से यह सवाल पूछा कि भोपाल से उम्मीदवार कौन होगा. मैं फिर से अपने उत्तर को रिपीट कर रही हूं कि भोपाल से उम्मीदवार तय करने का अधिकार मेरे पास नहीं है. उस पर निर्णय संसदीय दल करता है. किंतु, एक बात तो ध्यान में रखनी पड़ेगी कि दिग्विजय सिंह को हराना बिल्कुल भी कठिन काम नहीं है. उमा ने कहा कि अब मैं आपको अतीत की याद दिलाती हूं. बीजेपी के डॉ लक्ष्मीनारायण पांडे से मध्य प्रदेश के उस समय के मुख्यमंत्री कैलाश नाथ काट्जू विधानसभा का चुनाव हार गए थे. सुमित्रा महाजन से 1989 का लोकसभा का इंदौर का चुनाव पूर्व मुख्यमंत्री पीसी सेठी हार गए थे. फिर सतना में कुश्वाहा से एवं होशंगाबाद में सरताज सिंह से पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह चुनाव हार गए थे. इस संबंध में मेरा योगदान तो 2003 में ही पूरा हो चुका.

उमा भारती ने कहा कि मैं दिग्विजय सिंह को 3/4 बहुमत से 2003 में ही शासन से बेदख्ल कर चुकी हूं. मेरा तो रोल ही पूरा हो चुका. हराने और जिताने में जनता और कार्यकर्ता का रोल होता है, नेताओं को घमंड नहीं पालना चाहिए. आप भोपाल की ताशीर को समझ लीजिए, भोपाल के लोग दिग्विजय सिंह को हराने के लिए बेताब' दरअसल कांग्रेस की तरफ से दिग्विजय सिंह के नाम की घोषणा के बाद से अब तक बीजेपी के आधा दर्जन नेताओं के नाम की दिग्विजय के सामने चुनाव लड़ने की चर्चा हो चुकी है, जिनमें सबसे ऊपर शिवराज सिंह चौहान का नाम है. इसके अलावा उमा भारती, कैलाश विजयवर्गीय, नरेंद्र सिंह तोमर, वीडी शर्मा (जो अब खजुराहो से बीजेपी प्रत्याशी है), प्रदेश उपाध्यक्ष विजेश लुणावत, वर्तमान सांसद आलोक संजर के नाम भी अब तक दिग्विजय के सामने बीजेपी के संभावित प्रत्याशियों रूप में सामने आए हैं, लेकिन अब तक बीजेपी ने भोपाल से किसी का नाम तय नहीं किया है.