ऐशबाग की आरा मशीनों को बंद करने को सुप्रीम कोर्ट के कड़े आदेश

By - Oct 09, 2018 11:51 AM
 ऐशबाग की आरा मशीनों को बंद करने को सुप्रीम कोर्ट के कड़े आदेश

लखनऊ। शहर के बीच में चल रही तमाम अवैध और गैरकानूनी तरीके से चल रही आरा मशीनों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट सख्त हो गया है, अब इनको हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक का आदेश आ चुका है, इस आदेश का स्वागत करते हुए आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता वैभव महेश्वरी ने कहा कि इन इकाइयों से ना सिर्फ नागरिकों के स्वस्थ्य को भारी नुक्सान पहुँच रहा था, बल्कि आये दिन बड़ी दुर्घटनाओं की स्थिति भी बन जाती है, उन्होंने कहा कि, ऐशबाग इलाके के तमाम लोगों ने पार्टी से इस समस्या को बता कर इन फैक्ट्रियों को हटवाने के लिए प्रयास करने को कहा था, हैरत की बात यह है कि जब इन कारखानों को किसी भी विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र या परमिशन प्राप्त नहीं है तो ये धड़ल्ले से चल कैसे रही हैं, इसका मतलब ये है कि इनकी विभागों में ऊपर तक सांठ-गाँठ है,

आम आदमी पार्टी ने ऐशबाग पुलिस चैकी के ठीक बगल में चल रही सबसे बड़ी कुलदीप प्लाईवुड फैक्ट्री का उदाहरण भी दिया था जो अभी तक चालू है,उन्होंने आशा जताई कि दिवाली के पहले ही सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए सम्बंधित विभागों द्वारा इन कारखानों को हटा दिया जायेगा, ऐसा नहीं होने पर आम आदमी पार्टी सम्बंधित विभागों के कार्यालय पर धरने प्रदर्शन का सहारा लेगी, और माननीय सुप्रीमकोर्ट को भी उनके दिए गए आदेश की अवहेलना के सम्बन्ध में सूचित करेगी।